यदि आप यह स्कॉलरशिप प्राप्त करने हेतु पूरी जानकारी चाहते है तो आप https://scholarships.gov.in/ इस वेबसाइट पे जाए। उसके बाद “सेन्ट्रल स्कीम” विकल्प पे क्लिक करे। अब आपको “डिपार्टमेंट ऑफ़ एम्पोवेर्मेंट ऑफ़ पर्सन विथ डिसीबिलीटीज” इस आप्शन पे क्लिक करना है। अब उसके सामने गाइडलाइन और एफएक्यू (Guideline and faq) दिखाई देंगे, उन्हें अच्छी तरह से पढना है, उम्मीद करते है आपको पूरी जानकारी मिल जायेगी।

पैसे कमाने के लिए ऑफलाइन तो कई अलग-अलग तरीके है जो हम बहुत पहले से ही देखते और करते चले आ रहें हैं | लेकिन आज हम इन्टरनेट से पैसे कैसे कमाते हैं उसके बारे में जानेगें | जिस तरहे आप किसी कंपनी में जॉब या फिर अपना कोई छोटा-सा बिज़नस करके पैसे कमाते हैं ठीक उसी तरह इन्टरनेट से भी पैसे कमाए जाते हैं | अब आप सोच रहें होंगे कि इन्टरनेट पर क्या काम करते हैं और इन्टरनेट से कितना पैसा कमाया जा सकता है ? तो इसका जवाब बहुत आसान-सा है जिस तरह लोग जॉब करके या कोई बड़ा या छोटा बिज़नस करके ढेर सारे पैसे कमाता है उसी तरह इन्टरनेट पर भी पैसे कमाने के कई अल-अलग तरीके हैं | यहाँ आप एक जों की तरह या फिर एक बड़े बिज़नस मैन की तरह ढेर सारे पैसे कमा सकते हैं | लेकिन इस काम को करने में भी उसी तरह मेहनत लगता है जैसे: कोई बड़ा या छोटा बिज़नस करने में लगता है | वैसे आप इन्टरनेट से काम करके महीने के (15000 –up) अच्छे सैलरी भी कमा सकते हैं | तो आइये जानते हैं उन कुछ विशेष तरीकों के बारे में जिनसे इन्टरनेट से पैसे कमायें जाते हैं |


Attractive तरीके से लिंक शेयर करे : आपका लिंक शेयर करने का तरीका भी आपकी Sales लिए काफी मायने रखता है। एफिलिएट लिंक को हमेशा छोटी करके और कुछ अट्रैक्टिव टाइप से पोस्ट करें जैसे कि ‘67% Off in This Jeans only Today’ वगेरह। इस तरह से लोग आपके लिंग की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं और आपके प्रोडक्ट को देखते हैं और अगर उनको प्रोडक्ट पसंद आ गया तो समझ लो आपका फायदा हो गया।


Internet या Online पर सामानों को Selling करना बहुत ही आसान होता है। आपको किसी भी अच्छे Online Shopping वेबसाइट पर Seller Account खोलना होगा और वहां अपने Products का एक Gallery बनाना होगा। बस और क्या आपके सामान लोगों को दिखने लगेंगे। सभी मौजूद Shopping Website आपके सामान के बिकने के बाद एक छोटी सी fees लेते हैं। सभी Shopping वेबसाइट Seller Account की सुविधा नहीं देते हैं। इस Topic के अंत में हमने कुछ अच्छे Shopping वेबसाइट का नाम बताया है जो इसकी सुविधा देते हैं।
लेकिन अब हम आपको मोबाइल ऐप से पैसा कमाने के तरीके बताएंगे | सबसे पहले हम आपको एक उदाहरण देंगे, दोस्तों हम देखते हैं कि ऑनलाइन फूड ऑर्डर कंपनी जैसे स्विगी, जोमैटो और ऑनलाइन कार रेंटल कंपनी जैसे कि ओला कैब उबर एप्स | यह सारी कंपनी एक छोटे से ऐप का इस्तेमाल करके ही पैसा कमाती है, सबसे बड़ी कंपनी के मालिक के दिमाग में आई कि हम लोगों को घर पर बैठकर खाना दे सकते हैं |
आप में से कई लोगों ने इस शब्द को पहले भी सुना है, लेकिन वास्तव में यह नहीं जानते कि ऐसा क्या है, ब्लॉगिंग को समझने के लिए हमें यह समझने की आवश्यकता है कि ब्लॉग क्या है? यह एक नियमित रूप से अपडेट की गई वेबसाइट या वेब पेज है, आमतौर पर एक व्यक्ति या छोटे समूह द्वारा चलाया जाता है और अपने ब्लॉग को दैनिक रूप से अपडेट करने को ब्लॉगिंग के रूप में जाना जाता है। ऐसी कई साइटें हैं जिन पर आप अपना फ्री ब्लॉग बना सकते हैं जैसे Blogger, WordPress, Wix, Weebly e.t.c। आप बस इस तरह की वेबसाइट बना सकते हैं जैसे कई Unstoppable कई ब्लॉगर भारत में प्रति दिन लगभग $ 4 से $ 10 तक कमाते हैं, लगभग 280 से 700 रुपये। एक महीने में कुछ दिनों में $ 120 से $ 300। यदि आप इसके बारे में कोई तकनीकी ज्ञान नहीं रखते हैं, तो भी आप ब्लॉगिंग कर सकते हैं। 
दुनिया भर में ब्लॉगिंग बढ़ती जा रही है, जिससे लोग ढेर सारा पैसा कमाते हैं इसलिए हर किसी ने ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाते हैं के बारे में जानकारी जानना चाहिए | अगर आप ब्लॉगिंग से ऑनलाइन बिजनेस करना चाहते हो तो आसानी से आप एक दो लाख रुपये महीना कमा सकते हो | कुछ लोग तो ऐसे हैं जो ब्लॉगिंग का इस्तेमाल करके करोड़ों रुपए कमा लेते हैं, ब्लॉगिंग का मतलब होता है कि हमारी खुद की साइट बनाना अगर आपकी वेबसाइट हेल्थ स्पोर्ट्स या किसी भी विषय पर काम करती है तो आसानी से आप इस साइट पर रोजाना काम करके आपकी साइट को ऊपर ले जा सकते हो |

पूछताछ में आरोपियों की पहचान दिल्ली के सरिता विहार निवासी कनव आहुजा और ग्रेटर नोएडा के चाई-4 सेक्टर निवासी जसप्रीत सिंह के रूप में हुई। कनव आहुजा नोएडा के सेक्टर-74 स्थित सुपरटेक केपटाउन में किराये के मकान में रहकर ऑनलाइन और ऑन डिमांड गांजा एनसीआर में गांजे की तस्करी कर रहा था। दोनों आरोपी दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा सहित एनसीआर में अन्य जगह यूनिवर्सिटी व कॉलेजों में गांजे की सप्लाई करते थे। इसके लिए आरोपियों के पास ऑनलाइन डिमांड आती थी। डिमांड के आधार पर ही ग्राहक को गांजे की सप्लाई की जाती थी। 


कुछ साइट्स छात्रों के साथ सीधे ट्रांजैक्शन की अनुमति देते हैं, जिसका मतलब है कि आप अपने हिसाब से रेट तय कर सकते हैं। वहीं वेदांतु जैसी साइट्स ने एक तय पे स्ट्रक्चर सेट किया हुआ है। वेदांतु के सीईओ और को-फाउंडर वामसी कृष्णा का कहना है, 'हम फुल-टाइम ट्यूटर्स को हर महीने सैलरी पे करते हैं जबकि पार्ट-टाइम टीचर्स को प्रति लेक्चर के हिसाब से भुगतान किया जाता है।' 

हाई-क्वालिटी वेब कैमरे वाला एक कंप्यूटर और किसी खास सब्जेक्ट में कुशलता ही ऑनलाइन टीचिंग की कुंजी है। Vedantu, BharatTutor और Tutor India कुछ ऐसे ऑनलाइन टीचिंग प्लैटफॉर्म्स हैं जो भारतीय अध्यापकों और छात्रों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं। दूसरी वेबसाइट्स जैसे Eduwizards.com, Tutorvista.com, Chegg. com, Myschoolpage.com और Amazetutors. com पर आप ब्रिटेन, अमेरिका, यूएस, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में रह रहे छात्रों को भी पढ़ा सकते हैं।
एक वर्चुअल असिस्टेंट बनने के लिए आपमें अच्छी कम्युनिकेशन स्किल, एमएस ऑफिस, एक्सेल, पावरपॉइंट के बेसिक्स होने चाहिए। कई क्लाइंट के साथ डील करने के लिए आपके अंदर मल्टीटास्किंग की क्षमता होनी चाहिए। इस काम के लिए किसी खास क्वॉलिफिकेशन की जरूरत नहीं होती। लेकिन आप मार्केट में क्रेडिबिलिटी के लिए सर्टिफिकेट और ट्रेनिंग प्रोग्राम में भाग ले सकते हैं। काम ढ़ूंढने के लिए लिंक्डइन पर जॉब लिस्टिंग, करियर साइट्स और फ्रीलांसिंग वेबसाइट जैसे UpWork.com और Freelancer.com पर जा सकते हैं। अनुभव बढ़ने के साथ आप अपनी वेबसाइट बना सकते हैं और नेटवर्क एक्सपेंड करने के लिए सोशल मीडिया के जरिए अपने काम की मार्केटिंग कर सकते हैं।
×