जरूरी लिंकआईटीआर फाइलिंगदेर से पजेशन पर मिलेगा 10 फीसदी ब्याजटैक्स फ्री पर्क्सहोम लोन मार्केटसुझावशेयर बाजारआईपीओकमोडिटीविदेशी मुद्राबांडटेक्निकल चार्टवेल्थइंश्योरेंसपर्सनल फाइनेंसबचतनिवेशखर्चऋणटैक्सकमाईयोजनाप्रॉपर्टीस्टॉक्सनिफ़्टी सेंसेक्सस्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया रिलायंस इनफ़ोसिसTCSबैंक निफ़्टीकमोडिटीगोल्ड मेंथा आयलसिल्वर क्रूड आयल कॉपर इलायची क्रूड पाम आयल ट्रेंडिग टॉपिकपूर्ण बजट और अंतरिम बजटक्या है राजकोषीय घाटाFRBM एक्टबजट बनाने के 4 चरणोंराजकोषीय नीतिविनिवेशबजट प्लान का मतलबआय और व्यय का ब्योराक्वैरंटाइनराजकोषीय नीतिबजट 2019विधानसभा चुनावसमाचारचुनावलोकसभा चुनावमार्केट्स/वेल्थ में टॉप परआईटीआर ई-फाइलिंगसेंसेक्स टुडेप्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)EPF बैलेंस चेकपीएम जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)AADHAAR कार्ड डाउनलोडसुकन्या समृद्धि योजनाहमारे नेटवर्क से इकनॉमिक टाइम्सઈકોનોમિક ટાઈમ્સPune MirrorBangalore MirrorAhmedabad MirrorItsMyAscentEducation TimesBrand CapitalMumbai MirrorTimes NowIndiatimesमहाराष्ट्र टाइम्सವಿಜಯ ಕರ್ನಾಟಕGo GreenAdAge IndiaEisamayIGN IndiaIamGujaratTimes of IndiaSamayam TamilSamayam TeluguMiss KyraBombay TimesFilmipopGames AppMX PlayerNewspaper SubscriptionTimes Primeउपयोगी लिंक हमारे बारे में ईटी प्राइम सब्सक्राइब करेंअखबार का सब्सक्रिप्शन बुक करेंखुद विज्ञापन बनायें हमारे यहां विज्ञापन देंउपयोग की शर्तें व शिकायत निवारण पॉलिसी निजता पॉलिसीफीडबैकसंपर्क करें
यदि भगवान ने आपको रचनात्मकता के साथ आशीर्वाद दिया है, तो इसे प्रदर्शित करें या बेंच दें। यदि आप सुंदर दस्तकारी आइटम बना सकते हैं या एक प्रतिभाशाली चित्रकार हैं, तो निश्चित रूप से आप घर बैठे पैसे कमाने के बारे में सोच सकते हैं। इन दिनों, पुराने उत्पादों की माँग अधिक है। आप अपने घर या पड़ोस के प्रदर्शनियों के उत्पादों या चित्रों को बेंच सकते हैं। इन उत्पादों को प्रदर्शित करने का एक अन्य तरीका वेबसाइटों पर है, जो व्यक्ति किसी के उत्पाद को खरीदते हैं तो उसमें कमीशन लेते हैं। इससे बेहतर यह है कि आप इन वस्तुओं को बेचने के लिए स्वयं की वेबसाइट बना सकते हैं। आप अपने सामानों का ईबे, एटीसी, क्रेगलिस्ट पर या सोशल नेटवर्किंग खातों पर विज्ञापन पोस्ट कर सकते हैं।
VA कुशल, घर-आधारित पेशेवर हैं जो कंपनियों, व्यवसायों और उद्यमियों को प्रशासनिक सहायता प्रदान करते हैं। कार्य के कुछ प्रमुख क्षेत्रों में फोन कॉल करना, ईमेल पत्राचार, इंटरनेट अनुसंधान, डेटा प्रविष्टि, समय-निर्धारण नियुक्तियाँ, संपादन, लेखन, बहीखाता, विपणन, ब्लॉग प्रबंधन, प्रूफरीडिंग, परियोजना प्रबंधन, ग्राफिक डिज़ाइन, तकनीकी सहायता, ग्राहक सेवा, घटना शामिल हैं। योजना, और सोशल मीडिया प्रबंधन।
और जानें:वर्क फ्रॉम होमघर बैठे पैसे कैसे कमाएघर बैठे पैसे कमाने के उपायऑनलाइन वर्कWork from homehow to earn money onlinehow to earn money from homeghar baithe paise kaise kamayeearn money onlineSavings and Investments NewsSavings and Investments News in HindiSavings and Investments Latest NewsSavings and Investments Headlinesसेविंग/इन्वेस्टमेंट समाचार
ऑनलाइन ट्रेडिंग में पैसे कमाने से पहले ट्रेडिंग प्लेट फॉर्म में मिलने वाले डीमैट अकाउंट का इस्तेमाल करे क्योकि यह बिलकुल फ्री होता हैं और इसमें आपको लॉस या प्रॉफिट से कोई मतलब नहीं होता हैं , इसमें आप जितना चाहे ट्रेड कर सकते हैं और बेसिक से बेसिक चीजों को गौर करते हुए प्रॉफिट कमाने के लिए जरुरी बेस को समझ सकते हैं। मैं आपको साजेस करूँगा की ऑनलाइन ट्रेडिंग में बहुत पैसा तभी हैं जब आप उसके बेसिक चीजों को अच्छे से समझ सके , इसके लिए ऑनलाइन ट्रेडिंग लोगो को फ्री अकाउंट  ( डेमो अकाउंट ) में पैसे देते हैं जिससे बेसिक चीजों को समझ सके , और इसको समझने के लिए कम से कम लगातार 15 दिन तक मेहनत जरूर करे तभी बेसिक चीजों को समझ सकते हैं ,
आप घर बैठे पैसे कमाने के लिए, अपने कौशल और शौक का उपयोग कर सकते हैं। कौशल योग, ध्यान, एरोबिक्स, नृत्य, गायन, संगीत वादनयंत्र बजाने, सिलाई, खाना पकाना या हस्तशिल्प बनाने से लेकर कुछ भी हो सकता है। इसके लिए आपको किसी प्रकार के निवेश की आवश्यकता नहीं होती है। आप योग प्रशिक्षक, एक एरोबिक्स ट्रेनर, एक संगीत शिक्षक के रूप में गृह व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। मोमबत्ती या साबुन बनाने या विदेशी भाषा प्रशिक्षण के लिए बागवानी से पाक कला आदि में उस एक का चयन करें, जिसमें आप अपने आप को विशेषज्ञ मानते हैं।
कुछ साइट्स छात्रों के साथ सीधे ट्रांजैक्शन की अनुमति देते हैं, जिसका मतलब है कि आप अपने हिसाब से रेट तय कर सकते हैं। वहीं वेदांतु जैसी साइट्स ने एक तय पे स्ट्रक्चर सेट किया हुआ है। वेदांतु के सीईओ और को-फाउंडर वामसी कृष्णा का कहना है, 'हम फुल-टाइम ट्यूटर्स को हर महीने सैलरी पे करते हैं जबकि पार्ट-टाइम टीचर्स को प्रति लेक्चर के हिसाब से भुगतान किया जाता है।'
  Marketing और Advertising के लिए आप social media का सहारा ले सकते हैं क्योंकि आज का खाली समय में लोग social media पर ही  बिताते हैं और कुछ लोग तो अपने काम के समय भी social media पर लगे रहते हैं और अगर आप सोशल मीडिया का फायदा उठाना चाहते हैं तो आप बहुत ही अच्छी तरीके से उठा सकते हैं इसके लिए आपको सोशल मीडिया में थोड़ा  समय बिताना होगा और आप लोगों को अपने ऑनलाइन सर्विस के बारे में बता सकते हैं और अगर आपका सर्विस पसंद आया तो उसे ले सकते हैं जिससे आपको दो तरह के फायदे होंगे पहला फायदा यह होगा कि आपका service sell हो जाएगा | [caption id="attachment_102" align="aligncenter" width="448"]                 Product promote best social media platform[/caption] दूसरा फायदा यह है आपको online market में लोग जानने लगेंगे और आपका sell increase होता जाएगा और आप एक अच्छे online service provider के रूप में जाने जाएंगे लेकिन आपको हमेशा यह बात ध्यान में रखना है कि आप जो भी service provide कर रहे हैं | वहां लोगों के लिए Helpful और trusted  हो ऐसा ना की आप लोगों को बेवकूफ बना रहे हैं तो आप थोड़े समय के लिए पैसे कमा सकते हैं लेकिन आपको लंबे समय के लिए सफल नहीं हो पाएंगे इसलिए आप ध्यान में रखिए कि आप हमेशा ऐसा service provide करें जिससे लोगों की मदद हो सके |  
आप stock websites जैसे “Shutterstock”, “iStockphoto” पर फोटो को बेचने के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। आप उन सभी फोटो पर कमीशन कमाएंगे जो उपयोगकर्ता आपके पोर्टफोलियो से खरीदते / डाउनलोड करते हैं। यदि यह अच्छी तरह से चला जाता है तो आप ऑनलाइन फोटो बेचने के लिए भविष्य में अपनी वेबसाइट बना सकते हैं। इसलिए, यदि आप एक बहुत अच्छे फोटोग्राफर हैं और आपके द्वारा क्लिक की गई फोटोस के विशाल संग्रह के साथ बैठे हैं तो उन्हें मुद्रीकृत करने में प्रतीक्षा न करें
आपको डोमेन नाम और सर्वर होस्टिंग स्थान पर पैसा खर्च करना होगा जो आपको 3,000 रुपये से 5,000 रुपये प्रति वर्ष के बीच खर्च कर सकता है। स्व-होस्ट किए गए ब्लॉगों का एक अतिरिक्त लाभ है कि यह आपको अपनी वेबसाइट के तत्वों और कार्यक्षमता को अनुकूलित करने की अनुमति देता है। पूर्व के मामले में, आपको सेवा प्रदाता द्वारा उपलब्ध कराए गए टूल और प्लग-इन के साथ शांति बनाने की आवश्यकता है।
क्लीनिंग और ग्रॉसरी की लागत 400-500 रुपये प्रति व्यक्ति आती है। क्रॉकरी और डेकोरेशन पर एक बार होने वाले खर्चे की कीमत करीब 6,000 रुपये पड़ेगी। प्लैटफॉर्म्स अपनी सर्विस फी होस्ट की जह डाइनर्स यानी गेस्ट से लेते हैं। कॉस्ट और फीस घटाने के बाद आप महीने में औसतन 20,000 रुपये तक कमा सकते हैं। ईट विद इंडिया की को-फाउंडर सोनल सक्सेना का कहना है, 'होस्ट को होने वाली कमाई लोकेशन, मेन्यू और कीमत के हिसाब से अलग-अलग होती है।' 
×