यूट्यूब से पैसे कमाने के लिए आपके पास ज्यादा चीजे भी रिक्वायर्ड नही होती है। अगर एक स्मार्टफोन और एक अच्छा माइक हो तो भी काम चल जाता है। यूट्यूब से पैसे कमाने के लिए बस आपको एक यूट्यूब चैनल बनाना पड़ता है जो कि बिल्कुल फ्री है। अगर आप अपने चैनल की वीडियोस को बेहतर बनाने के लिए पैसा खर्च करना चाहो तो बात अलग है वरना आपको यूट्यूब से पैसा कमाने के लिए पैसा खर्च करने की जरूरत नहीं होती है।
इंटरनेट मार्केटिंग – इंटरनेट के इस ज़माने में मार्केटिंग में भी इंटरनेट की मदद की ज़रूरत पड़ती है। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग या इंटरनेट मार्केटिंग एक बहुत बड़ा एरिया बन गया है क्योंकि इंटरनेट पर मौजूद हर एक कंपनी या वेबसाइट को इस इंटरनेट मार्केटिंग का सहारा लेना ही पड़ता है। प्रोडक्ट्स, सर्विसेज, वेबसाइट, एप्प की ऑनलाइन मार्केटिंग का तरीका है इंटरनेट मार्केटिंग, जिसे बहुत आसानी से और कम समय में सीखा जा सकता है।
> Sponserd Video : अगर आप किसी यूट्यूब पर को फॉलो करते हैं तो आपने कई बार देखा होगा कि वह अपनी वीडियो में बोलते हैं कि यह वीडियो इस एप्लीकेशन या फिर इस कंपनी के द्वारा स्पॉन्सर की गई है। ऐसे में जब आप का युद्ध चाल फेमस होता है तो आप कंपनियों को ऑफर कर सकते हैं या फिर कंपनी आपको आ जाओ फिर करती है जिसने आपको उनके एप्लीकेशन या फिर उनकी कंपनी के बारे में लोगों को बताना होता है। इसके बदले में कंपनी आपको पैसे देती है।
SHREYAS Scheme कार्यक्रम को मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD), श्रम और रोजगार मंत्रालय, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने मिल कर शुरू किया है। यह राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप प्रोमोशनल स्कीम (National Apprenticeship Promotional Scheme – NAPS), राष्ट्रीय कैरियर सेवा (National Career Service – NCS) और उच्च शिक्षण संस्थानों में B.A / B.Sc / B.Com पाठ्यक्रम शुरू करने के माध्यम से किया जाएगा। सेक्टर स्किल काउंसिल (Sector Skill Council – SSCs) श्रेयस स्कीम 2019 का कार्यान्वन करेगी। इस योजना में बैंकिंग फाइनेंस इंश्योरेंस सर्विस (BFSI), रिटेल, हेल्थ केयर, टेलीकॉम, लॉजिस्टिक्स, मीडिया, मैनेजमेंट सर्विसेज, ITeS और Apparel सेक्टर शामिल होंगे।
देश में ग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री वालों को अपनी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार जॉब मिलने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. हालत इतने बुरे हैं कि ऑनलाइन कारोबारियों के पास पोस्ट ग्रेजुएट या ग्रेजुएट डिलीवरी स्टाफ के रूप में काम कर रहे हैं. एंट्री लेवल की ऑफिस जॉब के हिसाब से मार्केट का हाल बेहाल है और आर्थिक हालत में सुधार होने तक हालात ऐसे ही रह सकते हैं
दोस्तों जैसा की आप सब जानते है।  कि अभी के टाइम में लगभग 85% लोगों के पास स्मार्टफोन होते हैं , और इसमें ज्यादा से ज्यादा लोग Youtube का यूज करते है , किसी भी Movie या Video को  लिए या कोई भी जानकारी पाने के लिए , अगर आपके अंदर भी कोई स्किल है तो उसके बारे में आप यूट्यूब में Video बना के डाले और आपका Channel लोग ज्यादा पसंद करते हैं।  तो आपको Google Adsense से पैसा कमा सकते है।
हाई-क्वालिटी वेब कैमरे वाला एक कंप्यूटर और किसी खास सब्जेक्ट में कुशलता ही ऑनलाइन टीचिंग की कुंजी है। Vedantu, BharatTutor और Tutor India कुछ ऐसे ऑनलाइन टीचिंग प्लैटफॉर्म्स हैं जो भारतीय अध्यापकों और छात्रों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं। दूसरी वेबसाइट्स जैसे Eduwizards.com, Tutorvista.com, Chegg. com, Myschoolpage.com और Amazetutors. com पर आप ब्रिटेन, अमेरिका, यूएस, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में रह रहे छात्रों को भी पढ़ा सकते हैं।
अगर आपकी राइटिंग स्किल्स बेहतर है तो आप ब्लॉगिंग को इंटरनेट से पैसा कमाने के लिए जरूर चुनिए। शुरुआत में आपको इस में दिक्कत आ सकती है लेकिन धीरे-धीरे यह आप को सबसे बेस्ट और आसान लगने लगेगा। Blogging में जितनी जरूरी आपकी मेहनत होती है उतना ही आपका सब्र भी होता है। Blogging से आप हजारो नही बल्कि लाखो रुपये भी कमा सकते है। आप अगर इंग्लिश में कमजोर हो तो हिंदी में भी अपना ब्लॉग स्टार्ट कर सकते हो।
अधिकतर प्लैटफॉर्म्स ने 200 रुपये से 2,000 रुपये के बीच घंटे का रेट तय किया हुआ है, लेकिन ये साइट्स 10-15 प्रतिशत प्रति सेशन की सर्विस फीस भी वसूलती हैं। प्रति घंटे मिलने वाली फीस अनुभव, सब्जेक्ट और क्लास लेवल पर आधारित होती है। 5 साल के अनुभव के बाद आप 550 रुपये प्रति घंटे के हिसाब से चार्ज कर सकते हैं। विदेशी छात्रों के लिए यह फीस बढ़कर 900 रुपये तक हो जाती है। कॉलेज के कोर्सेज के लिए फीस 250-300 रुपये प्रति सेशन ज्यादा हो जाती है। मैथ, साइंस और कंप्यूटर साइंस की ट्यूशन के लिए सबसे ज्यादा पैसे मिलते हैं।
अगर आपको ऑनलाइन शॉप का मतलब समझ नहीं आया तो मैं यहां पर ई कॉमर्स की बात कर रहा हूं। अगर आप अपने प्रोडक्ट को अच्छी तरीके से प्रमोट करना जानते हो तो ऑनलाइन पैसे कमाने का इससे अच्छा तरीका आपको कहीं नहीं मिल सकता। आज के समय में दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति भी इसी वजह से इतना अमीर है। मैं यह बात बिल्कुल साफ कर दूं कि इसमें आपको अच्छा खासा इन्वेस्टमेंट भी करना पड़ेगा और अगर आपके काम में क्वालिटी नहीं हुई तो आपका लोस भी हो सकता है।
सूत्रों ने बताया कि जियो ने एजुकेशन से जुड़ा कंटेंट तैयार करने और वोकेशनल ट्रेनिंग की संभावना पर काम करने के लिए एक प्रोजेक्ट टीम बनाई है। इस पेशकश से जियो को 2021 तक 50 पर्सेंट के रेवेन्यू मार्केट शेयर के टारगेट के करीब पहुंचने में मदद मिलेगी। अभी कंपनी का रेवेन्यू मार्केट शेयर लगभग 20 पर्सेंट का है। कंपनी के एक अन्य एग्जिक्यूटिव ने कहा, 'जियो एक प्लेटफॉर्म तैयार करने पर विचार कर रही है जहां स्टूडेंट्स को विभिन्न विषयों में ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जा सकेगी। यह एजुकेशन टेक्नोलॉजी कंपनी बायजू और इसी तरह के अन्य प्लेटफॉर्म की तरह होगा जो छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय हैं।'
×