SHREYAS Scheme कार्यक्रम को मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD), श्रम और रोजगार मंत्रालय, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने मिल कर शुरू किया है। यह राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप प्रोमोशनल स्कीम (National Apprenticeship Promotional Scheme – NAPS), राष्ट्रीय कैरियर सेवा (National Career Service – NCS) और उच्च शिक्षण संस्थानों में B.A / B.Sc / B.Com पाठ्यक्रम शुरू करने के माध्यम से किया जाएगा। सेक्टर स्किल काउंसिल (Sector Skill Council – SSCs) श्रेयस स्कीम 2019 का कार्यान्वन करेगी। इस योजना में बैंकिंग फाइनेंस इंश्योरेंस सर्विस (BFSI), रिटेल, हेल्थ केयर, टेलीकॉम, लॉजिस्टिक्स, मीडिया, मैनेजमेंट सर्विसेज, ITeS और Apparel सेक्टर शामिल होंगे।


एफिलिएट मार्केटिंग भी पैसा कमाने के लिए बहुत अच्छा विकल्प है । इससे दूसरों के प्रोडक्ट को प्रमोट करके अच्छा इनकम किया जा सकता है। यदि आपके पास ब्लॉग या वेबसाइट है तो एफिलिएट मार्केटिंग के द्वारा पैसा कमा सकते हैं । बहुत सारे ब्लॉगर इस माध्यम से एडसेंस से बेहतर कमाई कर रहे हैं।  आप एफिलिएट लिंक को अपने ब्लॉग पर लगाकर प्रोजेक्ट को प्रमोट करेंगे । जब व्यक्ति उस पर क्लिक करके ऑनलाइन ( online earn money tips in hindi )प्रोडक्ट की खरीदारी करता है तो उस पर आपको कुछ कमीशन प्राप्त होता है।
हाई-क्वालिटी वेब कैमरे वाला एक कंप्यूटर और किसी खास सब्जेक्ट में कुशलता ही ऑनलाइन टीचिंग की कुंजी है। Vedantu, BharatTutor और Tutor India कुछ ऐसे ऑनलाइन टीचिंग प्लैटफॉर्म्स हैं जो भारतीय अध्यापकों और छात्रों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं। दूसरी वेबसाइट्स जैसे Eduwizards.com, Tutorvista.com, Chegg. com, Myschoolpage.com और Amazetutors. com पर आप ब्रिटेन, अमेरिका, यूएस, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में रह रहे छात्रों को भी पढ़ा सकते हैं।
 आज मैं इसी विषय पर चर्चा करुंगा कि वह कौन से पॉपुलर तरीके हैं जिससे आप घर बैठे बैठे ऑनलाइन इनकम online earn money tips in hindi कर सकते हैं। यह तरीके बहुत ही सरल है पर आपके लिए सरल साबित तभी होंगे जब आप में काम करने की लालसा होगी। तो इसके लिए आपको कोई बड़ा खर्च भी नहीं उठाना पड़ेगा बस थोड़ी सी पूंजी लगाइए और बड़े इनकम की तरफ निकल पड़िए। इसमें इन्वेस्ट की जाने वाली पूंजी आपके जेब खर्च से  कहीं कम है अतः आप चाहे ततो इतना खर्च बिना किसी अतिरिक्त परेशानी के उठा सकते हैं आपके लिए यह सब बिल्कुल ही आसान है।

वोरा की तरह ही, दूसरे सेल्फप्रोनयोर्स भी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। वर्चुअल असिस्टेंट, लेखक और ट्रांसलेटर्स से वेब डिवेलपर्स तक सभी ऑनलाइन वर्क के बेपनाह मौके पा रहे हैं। जनवरी 2018 में 500 भारतीयों के बीच हुई पेपल स्टडी के मुताबिक, 41 प्रतिशत सेल्फप्रेन्योर्स ने एक साल में तेज ग्रोथ हासिल की और इनमें 80 प्रतिशत इंटरनैशनल और डोमेस्टिक क्लाइंट्स के साथ काम कर रहे हैं। करीब 23 प्रतिशत की सालाना इनकम 60 लाख रुपये रही है।
×